विदेश में जमा गुप्त भारतीय धन पर श्वेत पत्र की जरुरत

March 15, 2010

जब वर्ष 2008 में भारतीय जनता पार्टी ने सबसे पहले स्विस बैंकों और अन्य टैक्स हेवन्स में भारतीय धन के गुप्त रुप से जमा होने के मुद्दे को उठाया तो कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ताओं ने इसका मजाक उड़ाया। वे सवाल करते थे कि जब एनडीए ६ वर्ष के लिए सत्ता में थी,तब इस मामले में क्यों कार्रवाई नहीं की गई। प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह ने इसे चुनावी स्टंट कहा।

इसलिए, जब भारत के संसदीय इतिहास में पहली बार राष्ट्रपति के अभिभाषण में इस मुद्दे का उल्लेख किया गया तो मुझे प्रसन्नता हुई। संसद की संयुक्त बैठक को सम्बोधित अभिभाषण में कहा गया कि: ”भारत कर सम्बन्धी सूचना के आदान -प्रदान को सुगम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*