Archive for July, 2010

इण्डोनेशिया में हिन्दू प्रभाव

July 17, 2010
No

कुछ वर्ष पूर्व मेरे एक मित्र ने दुनिया के सर्वाधिक मुस्लिम जनसंख्या वाले देश इण्डोनेशिया से लौटने के बाद कच्छ के आदीपुर (गुजरात) में मुझे एक 20 हजार रुपया वहां की करेंसी का नोट दिखाया जिस पर भगवान गणेश मुद्रित थे। मैं आश्चर्यचकित हुआ और प्रभावित भी । जब पिछले महीने इण्डोनेशिया की राजधानी जकार्ता से सिंधी समुदाय के कुछ महानुभावों के समूह ने 9,10 तथा 11 जुलाई 2010 को जकार्ता में होने वाले विश्व सिंधी सम्मेलन में आने का न्यौता दिया तो मैंने इसे तुरन्त स्वीकारा । इसका कारण यह था कि मैं इस देश पर भारतीय सभ्यता और विशेष रुप से रामायण और महाभारत जैसे महाग्रंथों के प्रभाव के बारे में अक्सर सुनता रहता था। करेंसी नोट पर गणेशजी का छपा चित्र इसका एक उदाहरण है। मेरी पत्नी कमला, सुपुत्री प्रतिभा, दशकों से मेरे सहयोगी दीपक चोपड़ा और उनकी पत्नी वीना के साथ मैं 8 जुलाई को यहां … Continue reading इण्डोनेशिया में हिन्दू प्रभाव

AddThis Social Bookmark Button

न्यायाधीश हेगड़े देश के राष्ट्रपति बन सकते थे

July 10, 2010
No

‘प्रतिबध्द’ विशेषण सामान्यतया सकारात्मक भाव में गिना जाता है। लेकिन मुझे स्मरण आता है साठ के दशक का अंतिम और सत्तर के दशक की शुरुआत की राजनीतिक चर्चाएं जब अचानक इस विशेषण का उस अर्थ में उपयोग में लिया जाने लगा जैसा पहले कभी नहीं हुआ था। प्रतिबध्द प्रेस, प्रतिबध्द नौकरशाही और प्रतिबध्द न्यायपालिका जैसे इन विशेषणों को सुनकर सभी लोकतंत्रप्रेमियों को चिंता होने लगती थी। विशेषकर यह तीनों विशेषण परेशानी में डालने वाले थे। वस्तुत, ऐसा माना जाता है कि प्रतिबध्द न्यायपालिका की अवधारणा का पालन करते हुए ही 1973 में प्रधानमंत्री श्रीमती गांधी

AddThis Social Bookmark Button

POLITICS & SPORTS

July 4, 2010
No

After an engrossing trip down south along with Kamla, my wife and Pratibha, my daughter to visit the only one of the four Dhams which I have not visited, namely, Rameshwaram, I spent a relaxed Friday watching on television the two Wimbledon semi-finals. Both the matches, Tomas Berdych (Czech) vs. Novak Dyokovic (Serb) and Rafael Nadal (Spain) vs. Andy Murray (U.K.), were absorbing games, and well contested. What I particularly liked was the Spaniard’s very warm comments about his British adversary in his post-match remarks. He lauded Murray not only as a player but also as a person. The warmth was evident even when after the game was over, the two formally hugged each other over the net. This brought to mind a remark one often hears in our country about sports and politics. In India, it is said, in sports there is too much politics, whereas unfortunately in politics … Continue reading POLITICS & SPORTS

AddThis Social Bookmark Button