Archive for May, 2011

कांग्रेस सावरकर के बारे में अपने निर्णय पर पुनर्विचार करे

May 30, 2011
No

गत् रविवार यानी 28 मई को वीर सावरकर की जयन्ती थी। यह महान क्रांतिकारी सन् 1883 में महाराष्ट्र के नासिक के निकट भगुर गांव में जन्मे थे।   जन्मजात मेधावी सावरकर की पद्य में असाधारण प्रतिभा थी और जब वह मुश्किल से 10 वर्ष के रहे होंगे तभी उनकी कविताएं समाचारपत्रों में छपने लगी थीं। जब वह मात्र 16 वर्ष के थे तब सावरकर ने अभिनव भारत संस्था बनाई जिसका मुख्य उद्देश्य भारत से अंग्रेजों  को बाहर निकालने और देश को पूर्ण राजनीतिक स्वतंत्रता दिलाना था।   मैं जब 15 वर्ष का था और हाई स्कूल से निकला ही था कि लाहौर गए मेरे एक मित्र मेरे लिए सावरकर की पुस्तक ‘दि फर्स्ट वार ऑफ इंडिपेंडेंस‘ की पुरानी प्रति लेकर आए। पुस्तक की कीमत 28 रूपये पड़ी जो कि उस समय एक बड़ी राशि हुआ करती थी।   अपने स्कूली दिनों से ही मैं उत्साही पुस्तक प्रेमी रहा हूं। यदि … Continue reading कांग्रेस सावरकर के बारे में अपने निर्णय पर पुनर्विचार करे

AddThis Social Bookmark Button

LET THE CONGRESS RECONSIDER ITS DECISION ON SAVARKAR

May 30, 2011
No

Last Saturday, May 28, was Veer Savarkar’s birth anniversary. This great revolutionary was born in 1883 in Bhagur, a village near Nasik in Maharashtra.   A born genius that he was Savarkar had a rare talent in poetry and his poems were published by well known newspapers when he was hardly 10 years old. When he was just 16 years old, Savarkar formed a body named Abhinav Bharat whose principal objective was to drive out the British from India and attain complete political independence for the country.   I was 15 years old and just out of High School when a friend who had gone to Lahore bought for me an old copy of Savarkar’s book The First War of Independence, 1857. The book had cost Rs.28. which at that point of time was a huge sum.   Since my school days I have been an avid book- lover. If … Continue reading LET THE CONGRESS RECONSIDER ITS DECISION ON SAVARKAR

AddThis Social Bookmark Button

ओबामा के सलाहकार ने चेताया अलकायदा पाकिस्तान को हाइजैक कर सकता है

May 27, 2011
No

इस वर्ष के फरवरी मास में एम.जे. अकबर ने हारपर कॉलिन्स इण्डिया द्वारा प्रकाशित अपनी पुस्तक ‘टिंडरबॉक्स‘ लोकार्पित की थी। इसका उप-शीर्षक था ‘दि पास्ट एण्ड फ्यूचर ऑफ पाकिस्तान‘। मैंने इस पुस्तक को उत्तम पुस्तक निरुपित किया था। इसकी प्रस्तावना में अकबर लिखते हैं:   पिछले सप्ताह एक मित्र ने हारपर कॉलिन्स इण्डिया द्वारा पाकिस्तान पर एक और उत्तम पुस्तक मुझे भेंट दी, लेकिन यह एक अमेरिकी लेखक द्वारा लिखी गई है। लेखक हैं ब्रुश राइडेल, जो सीआईए के पूर्व अधिकारी हैं और चार अमेरिकी राष्ट्रपतियों के मध्य-पूर्व तथा दक्षिण एशियाई मामलों पर सलाहकार भी रहे हैं। राष्ट्रपति ओबामा की तरफ से राइडेल ने व्हाईट हाउस के लिए अफगानिस्तान और पाकिस्तान संबंधी नीति की समीक्षा के लिए एजेंसियों की बैठक की अध्यक्षता भी की जो मार्च 2009 में पूरी हुई। इस पुस्तक का शीर्षक है डेडली एम्बरेस (Deadly Embrace) और यह सन् 2011 में भारत में प्रकाशित हुई है और … Continue reading ओबामा के सलाहकार ने चेताया अलकायदा पाकिस्तान को हाइजैक कर सकता है

AddThis Social Bookmark Button