Archive for July, 2011

पहला भारत-पाक युध्द 1947 : एक अनोखा युध्द

July 18, 2011
No

गत् सप्ताह कोलकाता ने डा. श्यामा प्रसाद मुकर्जी की 110वीं जयंती मनाई।   कोलकाता यूनिवर्सिटी इंस्टीटयूट के खचाखच भरे सभागार में जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व राज्यपाल जनरल एस.के. सिन्हा ने स्मरण दिलाया कि स्वतंत्रता प्राप्ति के तुरंत पश्चात् ही कैसे भारत को राज्य में एक बहुत कठिन स्थिति का सामना करना पड़ा। अक्टूबर 1947 में पाकिस्तान ने पठान कबिलाईयों, पूर्व सैनिकों तथा ‘अवकाश पर गए‘ सैनिकों की टुकड़ी से जम्मू-कश्मीर राज्य में गुप्त आक्रमण कर दिया।   इसने दो स्वतंत्र हुए देशों के बीच पहले भारत-पाक युध्द को बढ़ावा दिया। वस्तुत: यह एक अनोखा युध्द था। विदेश सेवा के एक विद्वान अधिकारी चन्द्रशेखर दासगुप्ता जो 1993-96 तक चीन में भारत के राजदूत रहे, ने कश्मीर आक्रमण पर ”वार एण्ड डिप्लामेसी इन कश्मीर, 1947-48” शीर्षक से एक उत्कृष्ट पुस्तक लिखी है, जिसमें उन्होंने इसे ”आधुनिक युध्दकला के इतिहास में एक अद्वितीय युध्द,” के रुप में वर्णित किया है।   वह … Continue reading पहला भारत-पाक युध्द 1947 : एक अनोखा युध्द

AddThis Social Bookmark Button

FIRST INDO – PAK WAR, 1947 : A UNIQUE WAR 8

July 17, 2011
No

Last week Kolkatta observed the 110th Birth Anniversary of Dr. Syama Prasad Mookerji.   Addressing a packed auditorium of invitees to the Kolkatta University Institute, General S.K. Sinha, former Governor, Jammu and Kashmir State, recalled how shortly after independence India had to confront a very difficult situation in the State. In October 1947, Pakistan organized a clandestine invasion of the State by a force composed of Pathan tribesmen, ex-servicemen and soldiers ‘on leave’.   This precipitated the First Indo-Pak war after the two countries became independent. This was a really strange war. A very bright Foreign Service Officer Chandrashekhar Dasgupta who has served as India’s Ambassador to China from 1993-96 has written an excellent book on this Kashmir invasion titled “War and Diplomacy in Kashmir, 1947-48” in which he describes this war as “unique in the annals of modern warfare”.   “It was a war”, he writes, “in which both … Continue reading FIRST INDO – PAK WAR, 1947 : A UNIQUE WAR 8

AddThis Social Bookmark Button

लोकपाल विधेयक : उतार-चढ़ाव भरा इतिहास

July 7, 2011
No

भारतीय संसद के इतिहास में, किसी अन्य विधेयक का इतिहास इतना उतार-चढ़ाव वाला नहीं रहा जितना कि लोकपाल विधेयक का है। लोकपाल शब्द, स्वीडेन के अम्बुड्समैन का भारतीय संस्करण है जिसका अर्थ है ‘जिससे शिकायत की जा सकती हो।‘ अत:

AddThis Social Bookmark Button