Archive for March, 2012

संवैधानिक नियुक्ति का गैर राजनीतिकरण हो

March 3, 2012
No

यूपीए सरकार के अवांछनीय रिकार्ड में, और अधिक से अधिक काण्ड जुड़ते जाने से स्वतंत्रता प्राप्ति के इन 65 वर्षों में अब तक की सर्वाधिक अप्रत्याशित स्थिति बन गई है। इसकी शुरूआत सड़ांधभरे घोटालों की श्रृंखला से हुई और आम आदमी की कमरतोड़ महंगाई के रूप में सामने आई, ये मुद्दे पिछले वर्षों में अनेक संसदीय सत्रों में गूंजते रहे हैं।

AddThis Social Bookmark Button