Archive for January, 2013

श्री नारायण गुरु सम्बन्धी केरल की पहल का देश में भी अनुसरण हो

January 5, 2013
No

नव वर्ष की शुरुआत हो चुकी है। मुझे इसकी प्रसन्नता है कि दिसम्बर, 2012 के अंतिम दिन मैं केरल में था और एक महान योगी तथा सिध्द श्री नारायण गुरु-अस्पृश्यता और जातिवाद के विरुध्द जिनके अथक संघर्ष की महात्मा गांधी ने भी प्रशंसा की-की पुण्य स्मृति से जुड़े तीर्थस्थल शिवगिरी जाने का सौभाग्य मिला।   श्री नारायण गुरु का जन्म ऐसे समय पर हुआ जब अस्पृश्यता का अपने घृणित रुप में चलन था। ऐसी भी गलत धारणा प्रचलित थी कि कुछ लोगों की छाया भी अन्यों को अपवित्र कर देती थी। एक समान आराध्य और धर्म को मानने वाले लाखों श्रध्दालुओं में से कुछ को मंदिर में प्रवेश से वंचित कर दिया गया था।   मुझे स्मरण आता है कि तिरुअनंतपुरम से लगभग 45 किलोमीटर दूर वरकला स्थित शिवगिरी मठ में मुझे 1987 में आमंत्रित किया गया था। सन् 1932 से प्रत्येक वर्ष होने वाले तीन दिवसीय समारोह  में मुख्य … Continue reading श्री नारायण गुरु सम्बन्धी केरल की पहल का देश में भी अनुसरण हो

AddThis Social Bookmark Button

LET COUNTRY EMULATE KERALA’S INITIATIVE ON SREE NARAYANA GURU

January 4, 2013
No

New Year has just commenced. I am happy that on the last day of December, 2012, I was in Kerala, and was able to visit Sivagiri, a pilgrim spot associated with the hallowed memory of Sree Narayana Guru, a great yogi and a siddha, revered by Mahatma Gandhi for his unrelenting crusade against untouchability and casteism.   The Guru was born at a time when the practice of untouchability was at its worst. There were people whose sight itself was supposed to cause defilement to others. In temples for a deity, lakhs who believed in the same deity and religion, were not allowed even to enter.   I recall that it was in 1987 that I had been first invited to visit Sivagiri Mutt in Varkala some 45 kms. from Thiruvananthapuram. I was asked to be Chief Guest at the 3-day celebrations that are held there every year since 1932. … Continue reading LET COUNTRY EMULATE KERALA’S INITIATIVE ON SREE NARAYANA GURU

AddThis Social Bookmark Button