Archive for March, 2010

धारा 370 समाप्त करो

March 21, 2010
No

पठानकोट की सैन्य छावनी (आर्मी कैंट) से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक छोटा सा कस्बा है माधोपुर। गत् सप्ताह इस कस्बे ने इतिहास बनते देखा। पंजाब, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश से आए लगभग एक लाख लोगों ने डा. श्यामा प्रसाद मुकर्जी, जिनकी भव्य मूर्ति यहां स्थापित की गई है, की स्मृति को अपनी श्रध्दांजलि अर्पित की। यहां से 1953 में उन्होंने जम्मू और कश्मीर के भारत में पूर्ण विलय के अभियान की शुरुआत की थी।

AddThis Social Bookmark Button

WANTED : A White Paper on Indian Wealth Stashed Abroad

March 15, 2010
No

When in the year 2008, the BJP first raised the issue of Indian money stashed abroad in Swiss Banks, or other tax havens, we were ridiculed by Congress Party spokesmen. Why did you not pursue the matter when NDA was in office for six years, they asked. Prime Minister Dr. Manmohan Singh himself described it as an election stunt. I feel happy therefore that for the first time in the history of the Indian Parliament the President’s Address itself has referred to this matter and told the joint session: “India is an active part of the global efforts to facilitate exchange of tax information and take action against tax evaders.” In Parliament, both the Prime Minister and Finance Minister have not only conceded the significance of the issue but affirmed that Government is proactively pursuing the issue, and negotiating with twenty countries for exchange of information about Indian nationals who … Continue reading WANTED : A White Paper on Indian Wealth Stashed Abroad

AddThis Social Bookmark Button

विदेश में जमा गुप्त भारतीय धन पर श्वेत पत्र की जरुरत

March 15, 2010
No

जब वर्ष 2008 में भारतीय जनता पार्टी ने सबसे पहले स्विस बैंकों और अन्य टैक्स हेवन्स में भारतीय धन के गुप्त रुप से जमा होने के मुद्दे को उठाया तो कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ताओं ने इसका मजाक उड़ाया। वे सवाल करते थे कि जब एनडीए ६ वर्ष के लिए सत्ता में थी,तब इस मामले में क्यों कार्रवाई नहीं की गई। प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह ने इसे चुनावी स्टंट कहा। इसलिए, जब भारत के संसदीय इतिहास में पहली बार राष्ट्रपति के अभिभाषण में इस मुद्दे का उल्लेख किया गया तो मुझे प्रसन्नता हुई। संसद की संयुक्त बैठक को सम्बोधित अभिभाषण में कहा गया कि: ”भारत कर सम्बन्धी सूचना के आदान -प्रदान को सुगम

AddThis Social Bookmark Button
Blowjob